प्रधानमंत्री का किसानों से माफी मांगना और कानून वापस लेना स्वागत योग्य- हाफ़िज़ इरफान

आंदोलन में हाफिज इरफान आरम्भ से किसानों के साथ खड़े रहे

जमीयतुल अइम्मा के सदर, पूर्व जिला पंचायत सदस्य एवं निवर्तमान प्रदेश सचिव अल्प संख्यक सभा (समाजवादी पार्टी) हाफ़िज़ इरफान ने प्रधानमंत्री का किसानों से माफी मांगना और तीनों कानून वापस लेने के निर्णय को स्वागत योग्य बताया है।

तीनों कृषि कानून वापस होने पर, बिल के खिलाफ आंदोलित रहे पूर्व जिला पंचायत सदस्य,व सपा नेता हाफिज इरफान ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि सरकार ने जो तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की बात कही है वह किसानों के लंबे परिश्रम सर्दी की सर्द रातों में की गई जद्दोजहद, बारिश में भीगते हुए इंकलाब जिंदाबाद के नारे, चिल चिलाती धूप में जय जवान जय किसान के जयकारों की जीत है।

प्रधानमंत्री के फैसले का स्वागत किया

प्रधानमंत्री का किसानों से माफी मांगना स्वागत योग्य है,पर उन सैकड़ों किसान शहीदों के लिए अभी भी उनकी जवाबदेही बनती है जिन्होंने इस आंदोलन में अपने प्राण त्याग दिए , सरकार ने आम जन का विश्वास खो दिया है, तभी देश के किसान प्रधानमंत्री जी के कहने के बावजूद अभी अपना आंदोलन खत्म ना करने की बात कह रहे हैं कि जब तक पार्लिमेंट से कानून खत्म नहीं किया जाता उन्हें सरकार का भरोसा नहीं है।

किसान एमएसपी सहित किसानों के अन्य मुद्दों पर चर्चा के लिए सरकार को कह रहे हैं। एक बात काबिले गौर है कि अब वह लोग जनता का सामना कैसे करेंगेे जो आंदोलनकारियों को खालिस्तानी, आतंकवादी, देशद्रोही, आन्दोलनजीवी कहते थे।
हाफिज इरफान ने कहा कि किसान ही भारत की नींव और रीढ़ हैं, किसानों के उद्धार के बिना हिंदुस्तान का भविष्य रोशन नहीं हो सकता, आज फिर साबित हो गया कि गांधी, कलाम, और भगत सिंह के महान भारत में सत्याग्रह पर चलते हुए बड़े से बड़े अन्याय और अहंकार के विरुद्ध जंग जीती जा सकती है।
हाफिज इरफान ने तमाम शहीद किसानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए तमाम आंदोलनकारियों को बधाई दी है।

Bolnatohai

Bolnatohai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *